एक ऐसी जगह जहां पत्नियों को पीटना है एक रिवाज

पति के हाथों पिटने के बाद मुझे अहसास हुआ...

7579

हमारे देश में नारी को देवी शक्ति का स्वरूप माना जाता हैं और कहा जाता है की कोई भी काम उनके बिना अधुरा हैं. लेकिन आज भी  देश में बहुत सी महिलाएं ऐसी हैं जिनको घरेलू हिंसा का शिकार होना पढ़ता हैं. जहां दुनिया भर में महिलाओं की हालात में सुधार लाने के लिए भरपूर प्रयास किए जा रहे हैं. वहीँ अफ्रीका में एक शहर नुआकशोत नाम का जहां पत्नियों की पिटाई को गर्व की बात समझा जाता हैं.

source

ये एक ऐसा शहर है जहां पर पुरुष मानसिकता की छाप के चलते यहां की महिलाएं पति से मार खाना अच्छा बात समझती हैं. यहां की महिलाओं को अगर उनके पति मारते पिटते नहीं हैं तो उनको लगता हैं की वो उनको प्यार ही नहीं करते. इसी वजह से यहां की  ज्यादातर महिलाओं के हाथों पैरों सहित दूसरे अंगों में फ्रैक्चर होना आम बात है.

source

सबसे बड़ी बात तो ये है की यहां की सरकार ने इस परम्परा के खिलाफ कानून भी बनाया हुआ हैं लेकिन इसको बंद करने में कामयाब नहीं हो पाई है. घरेलू हिंसा  के मामले में यहां की सरकार ने पांच साल की सजा का  नियम बनाया हुआ है इसके बावजूद समाज पर इसका कोई असर नहीं पड़ रहा है.

आगे पढ़िए महिलाओं के पीटने के पीछे का राज