अब खाएं दबा कर और वजन भी होगा कम.

869

जी हाँ बिलकुल सही सुना आपने, आप फैट खा कर आप ज्यादा वजन घटा सकते है, यह एक अनोखा और बहुत ही कारगर तरीका है इसे हम कीटो डाइट के नाम से जानते हैं. मोटापा कम करने का सबसे कारगर उपाय में से एक ‘कीटो डाइट’ है. अगर रिजल्ट की बात करे तो कीटो डाइट काफी कम समय में आपको स्लिम फिट बना सकता है, शायद यही वजह हैं कि विदेशो में शुरु हुआ कीटो डाइट का क्रेज अब बढ़ता हुआ भारत तक पहुंच गया है आइये जानते हैं क्या है कीटो डाइट ? कीटो डाइट में ना के बराबर कार्बोहाइड्रेट और हाई फैट डाइट होता है, यह एक ऐसी स्थिति होती है जब शरीर को kitosis स्थिति में लाया जा सके, kitosis शरीर की ऐसी matabolic स्थिति जिसमे शरीर ब्लड गुल्कोस (कार्बोहाइड्रेट) की बजाय फैट के टुकडो (ketones) को तोड़ कर एनर्जी के रूप में इस्तेमाल करता है . आम तौर से हमारे आहार में 70% कार्बोहाइड्रेट, 25%प्रोटीन और 5% फैट यानि वसा होता है इससे उलट कीटो डाइट में 70% फैट, 25 % प्रोटीन और 5%कार्बोहाइड्रेट होता है इस डाइट में शरीर के अलावा दिमाग भी फैट से मिली एनर्जी से चल रहा होता है . तो इस स्तिथि में शरीर अपने जमा फैट को इंधन बना कर उसे तेज़ी से खत्म करता है . इसलिए कीटो डाइट में आश्चर्यजनक परिणाम काफी कम समय में आते है . कीटो डाइट में कुछ बातो का ख्याल रखना जरूरी होता है.

1 कीटो डाइट प्लान में जरूरी है आप इस बात का ख्याल रखे की आपकी पुर दिन की डाइट में कार्बोहायड्रेट 20 से 50 ग्राम रोजाना से ज्यादा ना हो

2 प्रोटीन की मात्रा मध्य होना चाहिए क्यूंकि बहुत कम या नहीं खाना हमारे इन्सुलिन लेवल और ब्लड सुगर को प्रभावित करता है. लेकिन यदि बड़ी मात्रा में प्रोटीन का सेवन किया जाये तो वो इन्सुलिन और ब्लड शुगर को अस्थायी रूप से बढ़ा सकता है और बढ़ा हुआ इन्सुलिन लेवल आपके फैट बर्न को बंद कर देगा और आपकी बॉडी ketosis की स्थिथि से बाहर आ जाएगी .इसलिए इसबात का ख्याल अवश्य रखे की प्रोटीन की मात्र 25 % से जादा ना हो.

3 कार्बोहाइड्रेट आपके आहार के 5% से ज्यादा ना हो इसबात का ख्याल रखे.आम तैर पर हमारा शरीर कार्बोहाइड्रेट को इंधन के रूप में इस्तेमाल करता है लेकिन कीटो डाइट में इसकी मात्र काफी कम या ना के बराबर कर दिया जाता है तब शरीर अस्थाई रूप से फैट को इंधन के रूप में इस्तेमाल करता है इसलिय इस बात ख्याल रखे की कार्बोहाइड्रेट 5% से जादा ना हो पाए.

4.कीटो डाइट और टेस्टोस्टेरोन हार्मोन्स टेस्टोस्टेरोन हार्मोन्स और हाई फैट डाइट के बीच गहरा सम्बन्ध है यदि आप हाई फैट वाली डाइट लेते है तो आप का टेस्टोस्टेरोन हार्मोन्स लेवल उच्च स्तर पैर रहेगा और आप आसानी से फैट लूज़ करने के साथ साथ मसल गेन कर सकेंगे . कीटो डाइट की स्रोत काफी कम होता है इसलिए आम तौर पर इस्तेमाल होने वाले आहार में चिकेन,एग,पनीर और ब्रोकली शामिल हैं.

वैज्ञानिको की माने तो कीटो डाईट वजन घटाने के लिए अब तक का सबसे कारगर तरीका है.