इस दरगाह के पीछे की कहानी सुनने के बाद कोई भी हिन्दू वहां नहीं जायेगा…

आप का खून खोल जायेगा अजमेर शरीफ के दरगाह की सच्चाई जानकर

59454

हिन्दुओं और मुस्लिमों दोनों के बीच अटूट श्रद्धा का केंद्र बन गई है अजमेर शरीफ की दरगाह 

भारत देश एक पूण्यभूमि हैं, यहाँ ऐसे कई तीर्थ स्थान है जहा हर धर्म के लोग आस्था के साथ जाते है ऐसा ही एक तीर्थ स्थान है अजमेर शरीफ़ दरगाह, जिसे अजमेर दरगाह भी कहा जाता हैl लोगो की मान्यता है कि इस दरगाह में आप जो भी मन्नत मागते हो वो पूरी हो जाती हैl यह दरगाह ख्वाजा मुईनुद्दीन चिश्ती का दरगाह हैl

लेकिन आज हम आपको एक ऐसी सच्चाई के बारे में बताने जा रहे है जो अभी तक आप ने नहीं सुन्नी होगी, ये सच्चाई है अजमेर शरीफ के दरगाह की जहाँ हिन्दू लोग अपना माथा फोड़ते है वो भी ऐसे इंसान की कब्र पर जिस को इंसान कहना भी शायद गलत होगाl

जी हाँ ऐसा हम खुद नहीं बोल रहे बल्कि न्यूयार्क के एक प्रसिद्ध उर्दू अखबार “पाक एक्सप्रेस” में 14 मई 2012 को छपी एक पोस्ट में साबित हुआ हैl

इस अखबार में अजमेर शरीफ की दरगाह की वो असलियत उजागर की है जिसे जिसने भी सुना वो दुंग रह गयाl

आगे पढ़ें उस सच्चाई के बारे में जिससे सुन आप कभी नहीं जाएगें अजमेर शरीफ़ की उस दरगाह पर…

अगली स्लाइड के लिए NEXT बटन पर क्लिक करें

1 of 3