इस्तीफा तो अब दिया है लेकिन इस सीरीज से ही धोनी पर सवाल उठने लगे थे

2009 में जब भारत टी-20 का वर्ल्ड कप खेलने गया जिसमें भारत को सबसे ज्यादा उम्मीदें थीं क्योंकि वो पूर्व चैंपियन के रूप में टूर्नामेंट में उतरा था लेकिन भारत को इसमें करारी हार मिली और कप्तान के रूप में पहली बार धोनी पर सवाल उठने लगे

1908

तक़रीबन दो साल पहले महेंद्र सिंह धोनी ने टेस्ट क्रिकेट से सन्यास लेकर सबको चौका दिया था और अब उन्होंने एक बार फिर से बड़ा फैसला लेकर अपने प्रशंसकों को सकते में डाल दिया है l दरअसल 4 जनवरी की शाम को महेंद्र सिंह धोनी ने 20-20 और एकदिवसीय की कप्तानी छोड़ने का ऐलान करके सबको आश्चर्यचकित कर दिया l कैप्टन कूल के नाम से विख्यात धोनी अपने नये-नये प्रयोगों से सफल कप्तान की श्रेणी में जगह बनाने कामयाब रहे हैं l उनकी कप्तानी में T-20 से लेकर विश्वकप तक कई अहम ख़िताब भारत के नाम हुए, जिसकी वजह से इन्हें सर्वश्रेष्ठ कप्तान कहा जाने लगा, लेकिन कहते हैं ना कि जब समय करवट लेता है तो बड़े से बड़ा पहाड़ भी मिट्टी के ढेर में बदल जाता है l वैसे अब धोनी टीम में कप्तान की भूमिका में नही बल्कि एक विकेटकीपर और बल्लेबाज की हैसियत से खेलते रहेंगे, लेकिन उन्होंने कप्तान के रूप में कुछ ऐसे मुकाम हासिल किये हैं जिसे हमेशा याद किया जाएगा l

Source

धोनी के कुछ अहम पड़ाव :

T-20 विश्वकप

जब 2007 में राहुल द्रविड़ ने कप्तानी छोड़ी और सचिन तेंदुलकर व सौरव गांगुली जैसे दिग्गजों ने टी-20 का वर्ल्ड कप खेलने से इनकार किया तो धोनी को युवा ब्रिगेड की कमान सौंपी गई l जिसके बाद धोनी ने करिश्माई कारनामा कर दिखाया और उस T-20 विश्वकप के फाइनल में भारत ने पाकिस्तान के साथ मुकाबले में जीत दर्ज की l

2011 वनडे का वर्ल्ड कप

2011 के वनडे के विश्व कप में टीम इंडिया ने धोनी की कप्तानी में धमाकेदार प्रदर्शन किया और 2 अप्रैल को मुंबई के वाडखेड़े में श्रीलंका के खिलाफ धोनी के ऐतिहासिक छक्के ने भारत को टी-20 की तरह वनडे का भी वर्ल्ड चैंपियन बना दिया l भारत का ये दूसरा विश्वकप था और उससे पहले कपिल देव ने 1983 में भारत को ये गौरव दिलाया था l

Source

2013 आईसीसी चैंपियंस ट्रॉफी

धोनी ने कप्तानी के 6 साल बाद चैंपियंस ट्रॉफी में टीम इंडिया का नेतृत्व किया l मेजबान इंग्लैंड के साथ चैंपियंस ट्रॉफी का फाइनल बारिश के चलते एक टी-20 गेम में बदल गया लेकिन धोनी के धुरंधरों ने गजब का प्रदर्शन करते हुए अंग्रेजों के जबड़े से जीत छीन ली l इसके साथ ही धोनी ऐसे अकेले कप्तान बन गए जिसने आईसीसी की तीनों ट्रॉफी जीती हों l

कॉमनवेल्थ बैंक सीरीज 2007-08

धोनी के कप्तानी करियर का एक मील का पत्थर कॉमनवेल्थ बैंक सीरीज भी है, जिसमें ऑस्ट्रोलिया और श्रीलंका जैसी बड़ी टीमों को मात देते हुए टीम इंडिया ने सीरीज अपनी झोली में डाल ली l

अगले पेज पर पढ़िए उस सीरीज के बारे में जब धोनी पर सवाल उठने शुरू हो गये….