एक प्रधानमंत्री तो दूसरा राष्ट्रपति, दोनों में इतनी समानताएं हैं की आपको यकीन नहीं होगा

5747

हर किसी की जिंदगी में एक वक़्त ऐसा आता है जब हमें कोई ऐसा मिलता है, जिसे जानकर या बात करके हमें ऐसा लगता है कि हम दोनों की कहानी एक जैसी है l दुनिया में जितने भी कामयाब लोग हैं उनके स्ट्रगल से लेकर कामयाबी तक की कहानी कहीं ना कहीं एक मिलती-जुलती सी होती है l

अगर हम ये सोचते हैं कि ये सिर्फ हमारे साथ ही होता है तो ऐसा बिल्कुल भी नहीं है l दुनिया के दो ऐसे बड़े नेता जिन्होंने अलग-अलग देशों में किले फतेह कर ली हैl उन दोनों के स्ट्रगल से लेकर कामयाबी तक की कहानी बिल्कुल एक जैसे है जिसे जानने के बाद आप भी शायद सोच में पड़ जाएं ऐसा कैसे !

रिपब्लिकन पार्टी के उम्मीदवार डोनाल्ड ट्रंप आठ साल के अंतराल के बाद डेमोक्रेट्स के हाथ से व्हाइट हाउस को वापस हासिल करने में कामयाब हो गए हैं और यह अमेरिकी इतिहास में एक अहम मोड़ साबित हुआ है l अब ट्रंप अगले चार साल के लिए दुनिया की सबसे बड़ी महाशक्ति की कमान संभालेंगे l

donald

अमेरिका में डोनल्ड ट्रंप की फ़तह पर भले दुनिया चौंक रही हो, लेकिन लगता है अकेले दम पर सियासत के दिग्गजों को चुनौती देने वाले को जनता इन दिनों जीत से नवाज़ रही है। ओपिनियन पोल और जानकारों के अंदाज़ पूरी तरह से गलत साबित होने लगा है साथ ही ग़ैर-पारंपरिक तौर-तरीक़ों से जीत सुनिश्चित होने लगी है।

क़रीब ढाई साल पहले कुछ ऐसा ही भारत में हो चुका है। नरेंद्र मोदी ने पहले अपनी पार्टी के दावेदारों को दरकिनार किया और फिर दिल्ली में अपने विरोधियों को किनारे लगाया। ट्रंप ने भी कुछ ऐसा ही कर दिखाया। पहले टेड क्रूज़ और मार्को रुबियो को हराकर राष्ट्रपति पद की उम्मीदवारी जीती फिर उनके ही देश की सियासत में खुद से कहीं ज़्यादा अनुभवी हिलेरी क्लिंटन शिकस्त देकर बाजी मार ली l

दो देश, दो नेता कहानी एक सी कहानी क्लिक करें और जाने अगले पेज पर…