वैंकेया नायडू ने कर्ज में डूबे किसानों के लिये दिया शर्मनाक बयान

कर्ज माफ़ी को लेकर केंद्रीय मंत्री वैंकेया नायडू शर्मनाक बयान

1777

भारत के अलग-अलग राज्यों में किसान आत्महत्या करने को मजबूर हो रहे हैंl आत्महत्या करने वाले किसानों की संख्या में प्रतिदिन वृद्धि होती दिख रही हैl जहाँ पहले देश में किसानों की आत्महत्या की ख़बरें महाराष्ट्र के विदर्भ और तेलंगाना के क्षेत्र से ही आती थी अब इनमे नये प्रदेशों जैसे मध्यप्रदेश व बुंदेलखंड जैसी जगह जुड़ गयी हैl मध्यप्रदेश में कर्ज व सूदखोरों से परेशान होकर किसानों की आत्महत्या का सिलसिला बुंदेलखंड में भी शुरू हो गया हैl

Source

मध्यप्रदेश में किसानों की आत्महत्या के मामला में दिन व दिन इजाफा होता दिखायी दे रहा हैl मध्यप्रदेश में इस साल 16 किसानों की आत्महत्या का मामला सामने आया हैl आंदोलन को देखते हुए महाराष्ट्र, पंजाब और कर्नाटक सरकार ने किसानों का कर्ज माफ करने का फैसला किया है। इसी बीच केंद्रीय शहरी विकास मंत्री वैंकेया नायडू ने हमारी भारतीय संस्कृति में कहे जाने वाले अन्न के दाता किसानों पर टिप्पणी की हैl

Source

इसी बीच राज्य सरकारों द्वारा किसानों के लिए किये कर्जमाफ़ी को लेकर वैंकेया नायडू ने कहा कि कर्ज माफी आज कल फैशन बन चुका है, कर्ज माफी होनी चाहिए लेकिन केवल विकट परिस्थिति में। यह कोई अंतिम समाधान नहीं है समस्या से निपटने का, हमें किसानों का ध्यान रखना होगा।

Source

नायडू ने यह बयान मुंबई में शेयर मार्कीट में देश के सबसे बड़े म्युनिसीपल बॉन्ड प्रोग्राम को लॉन्च करने के दौरान कही वही उन्होंने एयर इंडिया को लेकर कहा कि सरकार का इसमें कोई हस्तक्षेप नहीं हैl वही सीपीआई के सचिव सीताराम येचुरी ने नायडू के बयान की निंदा करते हुए कहा कि पिछले 3 सालों में 36000-40,000 किसानों ने आत्महत्या की है, कर्जमाफी को फैशन बताना हमारे अन्नदाता का अपमान है।