राम मंदिर के मुद्दे पर आया नया मोड़ अयोध्या पहुँचे निर्माण के लिए पत्थर, जल्द ही जाएंगे सीएम योगी और…

तो क्या योगी के शासन काल में शुरू होगा राम मंदिर का निर्माण ?

7773

राम मंदिर का मुद्दा एक बार फिर से सुर्ख़ियों में आने वाला है. माना जा रहा है कि भाजपा इस मुद्दे को उठा सकती है और चूँकि इस समय यूपी में योगी आदित्यनाथ सीएम हैं तो इस मुद्दे पर बीजेपी को जीत मिल सकती है. यही वजह है कि यूपी के सीएम का पद संभालने के बाद सीएम योगी राम जन्म भूमि अयोध्या का दूसरी बार दौरा करने जा रहे हैं. योगी का ये दौरा अगले महीने होगा. इससे पहले योगी 31 मई को दौरे पर जा चुके हैं.

source

इस मुद्दे पर बहस अब और तेज हो सकती है. वहीं विश्व हिन्दू परिषद पहले से ही राम मंदिर निर्माण की मुहिम को धार देने की तैयारी में लगा हुआ है. मंदिर निर्माण के लिए रामनगरी अयोध्या में राजस्थान के वंशी पहाड़ से पहले ही पत्थरों की खेप आनी शुरु हो चुकी थी. आपको पता होगा कि पिछले साल भी इसी तरह राम मन्दिर निर्माण लिए पत्थर आए थे जिसको लेकर विवाद छिड़ गया था. उस वक्त तत्कालीन सपा सरकार ने वाणिज्य कर विभाग को पत्थर लाने की अनुमति देने से मना कर दिया था.

source

वहीँ अब भाजपा कीसरकार बनते ही रामनगरी में राजस्थान के वंशी पहाड़ से पत्थरों की खेप आना शुरू हो गई, तो वहीं विश्व हिंदू परिषद भी राम मंदिर के निर्माण को लेकर उत्साहित है. आप जानते होंगे कि श्री रामजन्मभूमि न्यास की ओर से बाबरी मस्जिद/रामजन्मभूमि विवाद कोर्ट में होने के बावजूद राम मंदिर निर्माण की कवायद 1990 से जारी है और तब से अब तक कई बार इस मुद्दे पर कई मोड़ आ चुके हैं.

source

राम मंदिर निर्माण के लिए अभी तक 75 हजार घनफीट पत्थरों की तराशी का काम हो चुका है, मंदिर निर्माण के लिए एक लाख 75 हजार घनफीट पत्थरों की तराशी होना है. मंदिर निर्माण के लिए प्रस्तावित राम मंदिर का सिंहद्वार, नृत्यमंडप, रंग मंडप, कोली गर्भगृह के लिए पत्थर तरासी का काम लगभग पूरा हो गया है. अब देखना ये होगा कि इस मुद्दे को लेकर आगे क्या होता है क्योंकि इसके विरोधी भी उतने ही हैं जितने कि समर्थक,