पाकिस्तान ने पहले भी कहा था कि कुलभूषण जाधव मसले पर वो अंतर्राष्ट्रीय अदालत की बात नहीं सुनेगा और अब कहा कि…

बासित ने कहा कि वो चाहते हैं इस मामले में जल्द कोर्ट का फैसला आए|

4714

जहाँ एक तरफ पाकिस्तान की नीचता जानने के बावजूद भारत अपने बेटे कुलभूषण जाधव की सलामती की राह देख रहा है वहीँ दूसरी तरफ पाकिस्तान है कि आयेदिन कुलभूषण जाधव पर नीच बयानबाजी कर के अपनी जात दिखा ही देता है| ऐसे में इसी कड़ी में जुड़ते हुए एक बार फिर पाकिस्तान ने कुलभूषण जाधव मामले पर एक बड़ा बयान दिया है जिसपर यकीन करना हर मायने में नामुमकिन सा लग रहा है|

source

याद दिला दें कि अभी कुछ वक़्त पहले ही इस तरह की खबर ने भी खूब सुर्खियाँ बटोरी थी जिनमे अनुमान लगाया जा रहा था कि हो ना हो पाकिस्तान की इस तरह की आनाकानी करने के पीछे एक बड़ा कारण ये भी हो सकता है कि शायद पाकिस्तान ने कुलभूषण जाधव को पहले ही मौत के घाट उतार दिया हो| इस बात पर विश्वास करना भी ज्यादा कठिन नहीं है क्योंकि  पाकिस्तान इस तरह की नीचता पहले भी कई मुद्दों पर कर चुका है|

source

यही नहीं इसके बाद भी एक ऐसा मौका आया था जहाँ पाकिस्तान ने साफ़ कर दिया था कि वो कुलभूषण जाधव मामले में अंतर्राष्ट्रीय अदालत की कोई बात नहीं सुनेगा और उन्हें अपराधी मानकर ही उनपर उचित कार्यवाही करेगा|  ऐसे में एक बार फिर पाकिस्तान के उच्चायुक्त अब्दुल बासित ने बड़ा बयान दिया है| बासित ने कहा है कि जाधव की सजा पर पुनर्विचार की गुंजाइश है|

source

अंग्रेजी अखबार द हिंदू से बातचीत में अब्दुल बासित ने कहा कि जब तक कुलभूषण जाधव का मामला अंतरराष्ट्रीय कोर्ट में है, तब तक उन्हें फांसी नहीं दी जाएगी| बासित ने कहा कि भले ही आईसीजे का फैसला आने में दो-तीन साल लग जाएं, लेकिन उससे पहले फांसी नहीं दी जाएगी| हालांकि, बासित ने कहा कि वो चाहते हैं इस मामले में जल्द कोर्ट का फैसला आए|

source

अब्दुल बासित ने बताया कि अंतरराष्ट्रीय कोर्ट के अलावा भी कुलभूषण जाधव के पास फांसी की सजा से बचने के उपाय हैं| बासित ने बताया कि अगर ‘कोर्ट ऑफ अपील’ से भी जाधव की अपील रद्द हो जाती है, तो उनके पास अपील का मौका है| उन्होंने कहा कि जाधव पहले आर्मी चीफ जनरल से दया की फरियाद कर सकते हैं, उसके बाद राष्ट्रपति के पास भी दया याचिका दी जा सकती है|