भारत-पाक के बीच हुए हॉकी के मुकाबले में जहाँ एक तरफ भारत ने पाकिस्तान को करारी हार तो दी ही साथ ही देश के शहीद जवानों के लिए…

पाकिस्तानी टीम की जीत के बाद पाक आर्मी ने सभी क्रिकेटरों के लिए उमरा के पैकेज की घोषणा की है लेकिन भारतीय सेना ने खेल के मैदान से खुद को दूर ही रखा।

5175

रविवार 18 जून को भारत-पाकिस्तान के क्रिकेट मैच क साथ ही एक और मैच था,, जिसपर यूँ तो लोगों ने शायद ज्यादा ध्यान तो नहीं दिया लेकिन उन्होंने भारत और भारत के शहीद जवानों के लिए जो किया है उसे जानकर आपको भी उनपर गर्व होगा| हम यहाँ बता कर रहे हैं रविवार को ही इंग्लैंड में हुए भारत-पाक के बीच एक और मैच, हॉकी मैच की| इस मैच में ना ही सिर्फ पाकिस्तान को धूल चटा कर भारत ने एक बड़ी जीत अपने नाम की है बल्कि शहीदों के लिए जो किया…

बताते चलें कि हरमनप्रीत सिंह, तलविंदर सिंह और आकाशदीप सिंह के दो-दो गोलों की मदद से भारतीय पुरुष हॉकी टीम ने रविवार को वल्र्ड लीग सेमीफाइनल्स के अपने तीसरे पूल मैच में चिर प्रतिद्वंद्वी पाकिस्तान को 7-1 से मात दी| इस जीत के साथ ही भारत ने क्वार्टर फाइनल में जगह बना ली है, लेकिन यहाँ गौर करने वाली बात ये है कि क्रिकेट से एकदम विपरीत हॉकी के इस खेल में एक और बात थी, जिसने देश के सम्मान को तरजीह दी|

भारतीय सेना और सुरक्षा बलों पर पाक सेना के हमलों और पाक सेना समर्थित आतंकियों के हमले के खिलाफ बांधी थी। इस तरह से भारतीय हॉकी टीम ने न सिर्फ खेल के मैदान में बुरी तरह से पाकिस्तान को मात दी, बल्कि पूरे पाकिस्तान और पाकिस्तानी आर्मी को भी आइना दिखा दिया।

दरअसल इस मैच में भारतीय खिलाड़ियों ने सीमा पर देश की रक्षा में जुटे सैनिकों के प्रति सम्मान दिखाते हुए बांह पर काली पट्टी बांधी थी और पाकिस्तानी हमलों में शहीद हुए सैनिकों के लिए शोक भी जताया| इतना ही नहीं, भारतीय टीम के समर्थन में स्टाफ ने भी काली पट्टी बांधी| वहीं दूसरी तरफ बात करें अगर क्रिकेट की तो इस मामले में यह संवेदना नहीं दिखी|

क्रिकेट में पाकिस्तानी टीम की जीत के बाद पाक आर्मी ने सभी क्रिकेटरों के लिए उमरा के पैकेज की घोषणा की है लेकिन भारतीय सेना ने खेल के मैदान से खुद को दूर ही रखा।