बड़ी खबर: आठ घंटे की मशक्कत के बाद सुरक्षाबलों ने मार गिराया 10 लाख का वो इनामी आतंकी जिसने…

मारे गए इस आतंकी के ऊपर 5 लाख का ईनाम भी रखा गया था। उसको ए क्लास के आतंकी की श्रेणी में रखा गया था।

7813

हमारी सेना अपना काम या यूँ कहिये कश्मीर में अशांति फ़ैलाने वालों से सेना अच्छे से निपट रही हैl वैसे बुरहान वानी तो याद ही होगा, जिसे सेना ने 72 हूरों के पास पहुंचा दिया थाl बुरहान वानी हिजबुल का कमांडर था, उसके मरने के बाद कश्मीर में काफी अशांति फैली थी लेकिन भारतीय सेना ने अब एक और बड़ी सफलता प्राप्त की हैl दरअसल बुरहान वानी और सबजार को मार गिराने के बाद सुरक्षाबलों ने शुक्रवार को बड़ी कामयाबी हासिल की थी। ऐसे में अब भारतीय जवानों ने लश्कर कमांडर जुनैद मट्टू सहित दो आतंकवादियों को ढेर कर दिया है। इस ऑपरेशन को भारतीय सेना, एसओजी और सीआरपीएफ मिलकर इस ऑपरेशन को अंजाम दिया है।

source

इससे पहले जम्मू कश्मीर के अनंतनाग जिले के अरवनी गांव में जम्मू कश्मीर पुलिस और सुरक्षाबल के जवानों की आतंकियों के साथ भारी मुठभेड़ हुई। इस दौरान सुरक्षाबलों ने लश्कर के टॉप कमांडर जुनैद मट्टू को घेर लिया था। पुलिस को पता चला था कि जिस बिल्डिंग को घेरा गया है उसमें कम से कम तीन आतंकी छिपे हैं जिनमें से एक जुनैद मट्टू के होने का शक है।

source

इससे पहले गुरूवार को दो अलग-अलग आतंकी हमलों में दो पुलिसकर्मी शहीद भी हुए थे। शहीद हुए पुलिसकर्मियों का नाम सज्जाद और शबीर अहमद डार था। शबीर अहमद डार छुट्टियों में अपने घर आए हुए थे जहां उन्हें आतंकियों ने गोली मार दी। जिसके बाद उन्हें अस्पताल ले जाया गया, जहां पहुंचने से पहले ही उनकी मौत हो चुकी थी।

source

30 मई को भारतीय सेना के द्वारा जारी की गई 12 मोस्ट वांटेड आतंकियों की लिस्ट में जुनैद मट्टू का नाम शामिल था और उसके ऊपर 5 लाख का ईनाम भी रखा गया था। उसको ए क्लास के आतंकी की श्रेणी में रखा गया था। यह आतंकियों की दूसरे नंबर की उच्चतम रैंकिंग है। इसकी सबसे बड़ी रैंकिंग ए++ है।

source

ऐसा माना जाता है कि मट्टू ने जून 2015 में आतंकी संगठन को ज्वाइन किया था। हालांकि कई सूत्र बताते हैं कि वह 2014 से आतंकी गतिविधियों में शामिल रहा है। उसने स्थानीय पुलिस पर तीन हमले किए थे। उसने पहला अटैक पिछले साल जून में किया था। इस दौरान उसने एक आतंकी के साथ मिलकर दो पुलिस वालों की हत्या कर दी थी। दूसरा हमला उसने जून में बीएसएफ सैनिकों को ले जा रही बस पर किया था। इस हमले में तीन जवान शहीद हो गए थे। तीसरी वारदात में उसने गुरुवार को की जिसमें एक पुलिस वाला शहीद हो गया था।

Loading...
Loading...