‘मोदी भक्तों’ पर निशाना साधते हुए शेहला रशीद ने लिखा, “वीएचपी नेता ने मेरा बुर्का….” फिर आए कैसे-कैसे कमेंट, देखिए

शेहला रशीद पहली बार तब चर्चा में आई थीं जब जेएनयू में संसद पर हमले के दोषी अफजल गुरु की फांसी की बरसी पर एक कार्यक्रम में कथित तौर पर भारत विरोधी नारे लगने का मामला आया था।

10235

जेएनयू छात्रा शेहला रशीद एक बार फिर अपने विवादित बयान को लेकर चर्चा में आ गयी हैं| याद दिला दें कि ये वही शेहला रशीद हैं जिन्होंने भारत में रह कर भारत के ही टुकड़े करने के पक्ष में खूब नारे लगाये थे और वहीँ से उन्हें थोड़ी-बहुत पहचान मिली है| देश को हर मायने में झकझोर कर रख देने वाले इस मुद्दे के बड़ा से ही शेहला रशीद की शख्सियत मोदी विरोधी वाली हो गयी है|

ऐसे में अपनी इस “मोदी-विरोधी” छवि पर एक और मुहर लगाते हुए इस बार शेहला रशीद ने ट्वीट किया कि, “मोदी भक्त मुझसे पूछते हैं कि मैंने बुर्का क्यूँ नहीं पहना? तो मैं बता दूं कि मेरा बुर्का विश्व हिन्दू परिषद् वालों ने चुरा लिया है|” दरअसल जेएनयू में एफफिल की छात्रा शेहला ने ट्वीट के साथ एक खबर का लिंक शेयर किया था जिसमें वीएचपी नेता द्वारा बुरका पहन कर लड़कियों के संग छेड़खानी करने की बात कही गयी थी।

खबर के अनुसार इलाहाबाद में विश्व हिन्दू परिषद (वीएचपी) नेता अभिषेक यादव को शनिवार (10 जून) रात को मुहर्रम मजलिस में बुरका पहनकर लड़कियों के संग छेड़खान करने पर पुलिस ने पकड़ा था।

अगली स्लाइड में जानिए शेहला रशीद के इस बेतुके बयान पर कैसे लोगों ने उनको दिखाया आईना और कहा…