भारत का वो आखिरी गाव जहां सिर्फ आने मात्र से ही धुल जाते हैं सारे पाप क्योंकि…

एक ऐसा गांव जहा सिर्फ एक बार जाने से मिट जाती है गरीबी, भगवान शिव ने दिया है यह वरदान...

12155

आर्थिक रूप से परेशान रहने वाले लोगों के लिए भारत का यह आखिरी गांव किसी चमत्कारी जगह से कम नही हैं। ऐसा माना जाता है यहां भगवान् शिव की ऐसी महिमा है कि यहां जो भी आता है उसकी आर्थिक स्थिति बेहतर हो जाती है। जी हाँ इस गांव का नाम है माणा। माणा गांव उत्तराखण्ड के चमोली जिले में स्थित है जो बद्रीनाथ में करीब तीन किमी की दूरी पर है। ये गाँव भारत का आखिरी गाँव है और लोगों का मानना है की यह गाँव सीधे स्वर्ग जाने का रास्ता है|

यह गाँव हिमालय में स्थित बद्रीनाथ से तीन किमी आगे समुद्र तल से 18,000 फुट की ऊँचाई पर बसा है| भारत-तिब्बत सीमा से लगे इस गाँव की सांस्कृतिक विरासत तो महत्त्वपूर्ण है ही साथ ही यह अपनी अनूठी परम्पराओं के लिए भी खास मशहूर है। पहले तो बद्रीनाथ से कुछ ही दूर गुप्त गंगा और अलकनंदा के संगम पर स्थित इस गाँव के बारे में बहुत ही कम लोग जानते थे, लेकिन अब सरकार ने यहाँ तक पक्की सड़क बना दी है ताकी पर्यटकों को यहाँ आने में आसानी हो|

माणा में कड़ाके की सर्दी पड़ती है। छह महीने तक यह क्षेत्र केवल बर्फ से ही ढका रहता है। यही कारण है कि यहां कि पर्वतीय चोटियां बिल्कुल खड़ी और खुश्क हैं। सर्दियां शुरु होने से पहले यहां रहने वाले ग्रामीण नीचे स्थित चमोली जिले के गाँवों में अपना बसेरा करते हैं। आपको जानकर हैरत होगी कि यहां का एकमात्र इंटर कॉलेज छह महीने माणा में और छह महीने चमोली में चलाया जाता है।

इस गाँव में है ऐसा पुल जिसे पार करते ही मनुष्य पहुच जाता है स्वर्ग, पढ़ें पूरी खबर…

1 of 3

Loading...
Loading...