सेना की गाड़ी से युवक को बांधे जाने के मसले पर पहली बार बोले मेजर सुरेन्द्र पूनिया और कह डाली ये बड़ी बात!

कश्मीरी युवक को गाड़ी से बांधे जाने के मुद्दे पर पहली बार सेना की तरफ से एक बयान आया है

48380

कश्मीरी युवक को गाड़ी से बांधे जाने के मुद्दे पर पहली बार सेना की तरफ से एक बयान आया है

अभी बीते कुछ समय से कश्मीर से आया एक वीडियो सोशल मीडिया पर काफी वायरल हो रहा है| वीडियो में दिखाई दे रहा है कि जवानों का एक दल चुनाव की ड्यूटी पर लगे कर्मचारियों के साथ सड़क से गुजर रहा है। इसी बीच, कुछ कश्मीरी युवक इस दल को घेर लेते हैं। एक कश्मीरी युवक अपने फोन की वीडियो रिकॉर्डिंग ऑन करता है जबकि दूसरा जवान को लात से मारता है। कश्मीरी युवक का पैर लगने से जवान का हेलमेट लुढ़कता हुआ दूर चला जाता है|

Source

इस वीडियो को देखकर हर हिन्दुस्तानी का खून खौल उठा था| तरह-तरह के सवाल उठाये गए थे कि आखिर हमारे सेना के जवान इतने लाचार और मजबूर क्यों हैं? तो जवाब में मिला कि पैलेट गन विवाद के बाद जवानों से संयम बरतने के लिए कहा गया था, और यही वजह है कि सीआरपीएफ के जवान इतनी बदसलूकी के बावजूद शांत रहे|

खैर इस वीडियो के कुछ दिनों के अन्दर ही एक और वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल होता है| अब इस वीडियो में साफ़ देखा जा सकता है कि एक कश्मीरी युवक को भारतीय सेना की गाड़ी के आगे बाँध दिया गया है ताकि इन गद्दार पत्थरबाजों से निपटा जा सके| ये वीडियो ओमर अब्दुल्लाह ने ट्विटर पर साझा किया था| जिसने भी ये वीडियो देखा उसने यही माना कि “शायद यही सही तरीका है इन एहसान फरामोश गद्दारों से निपटने का|”

ऐसे में कश्मीरी युवक को इस तरह गाड़ी से बांधे जाने के मुद्दे पर पहली बार सेना की तरफ से एक बयान आया है जिसमे मेजर सुरेन्द्र पूनिया ने कुछ ऐसी बातें बताई हैं जिसे सुनकर आपको गहरा झटका लग सकता है|

अगली स्लाइड में देखिये मेजर पूनिया का वीडियो: