ऐतिहासिक फैसला: क्रांतिकारी भगत सिंह के सम्मान में पीएम मोदी का ये बड़ा कदम!

जिसने देश के लिए हंसते-हंसते लगा ली थी फाँसी उन क्रांतिकारी भगत सिंह के सम्मान में पीएम मोदी का ये बड़ा कदम!

27807

23 मार्च 1931 का वो दिन भला कौन सा भारतीय अपने ज़ेहन से निकाल सकता है, जब लाहौर के एक जेल में महान क्रांतिकारी भगत सिंह को फांसी दे दी गयी थी| देश की आज़ादी के लिए लड़ते हुए भगत सिंह ने हंसते-हंसते फांसी के फंदे को अपने गले लगा लिया था लेकिन फिर भी महान क्रांतिकारी को आजादी के 70 साल बाद भी शहीद की उपाधि नहीं मिली है| देखा जाये तो देश की जनता उन्हें शहीद-ए-आज़म मानती है लेकिन दस्तावेजों में भगत सिंह को अभी भी शहीद की उपाधि नहीं मिली है|

Source

इसी बात को मद्देनजर रखते हुए एक न्यूज़ चैनल के एक संवाददाता ने अप्रैल 2013 को केंद्रीय गृह मंत्रालय में भगत सिंह, सुखदेव और राजगुरु को लेकर एक RTI डाली जिसमें उन्होंने पूछा था कि “भगत सिंह, सुखदेव एवं राजगुरु को शहीद का दर्जा कब दिया गया?” सवांददाता के इस सवाल से गृह मंत्रालय से जो जवाब आया वो वाकई हैरान कर देने वाला था| जवाब में लिखा था कि, “इस संबंध में कोई सूचना उपलब्ध नहीं है, तब से शहीद-ए-आजम के वंशज (प्रपौत्र) यादवेंद्र सिंह संधू सरकार के खिलाफ आंदोलन चला रहे हैं|”

Source

हालाँकि जब मामले ने तूल पकड़ा और मीडिया में आया तब देश के तत्‍कालीन प्रधानमंत्री डॉ. मनमोहन सिंह ने इस मुद्दे पर सफाई देते हुए कहा था कि, “गृह मंत्रालय के जो लेख और अभिलेख हैं उनमें भगत सिंह, सुखदेव और राजगुरु को शहीद का दर्जा देने का काम नहीं हुआ है|” देश से जुड़े इस अहम मुद्दे पर बीजेपी नेता वैंकेया नायडू ने भी कहा था कि “सरकार को इसे बहुत गंभीरता से लेना चाहिए| वह यह देखे कि भगत सिंह का नाम शहीदों की सूची में सम्‍मलित किया जाए| वो जिस सम्‍मान और महत्‍व के हकदार हैं उन्‍हें प्रदान किया जाए क्‍योंकि वे स्‍वतंत्रता सेनानियों के नायक थे| देश के युवा उनसे प्रेरित होते हैं|”

वैंकेया नायडू के इस बयान पर संसदीय कार्य राज्यमंत्री राजीव शुक्ला ने कहा था कि, “सरकार उन्हें बकायदा शहीद मानती है और अगर सरकारी रिकार्ड में ऐसा नहीं है तो इसे सुधारा जाएगा, सरकार पूरी तरह से उन्‍हें शहीद मानती है और शहीद का दर्जा देती है|”

लेकिन इन सभी बातों के बाद भी हैरानी की बात तो ये है कि तत्कालीन कांग्रेस सरकार ने इस बारे में कोई निर्णय नहीं लिया था |

अगली स्लाइड में जानिए पीएम मोदी का ‘शहीद’ भगत सिंह के बारे में लिया गया वो बड़ा फैसला जिसे सुनकर हर भारतीय ख़ुशी से झूम उठेगा.. 

1 of 2

Loading...
Loading...